Thyroid Awareness Month: महिलाओं में दिखने वाले ये 5 लक्षण, हो सकते हैं थायराइड के संकेत

31
Thyroid Awareness Month

Thyroid Awareness Month: हर साल जनवरी के महीने को थायराइड जागरूकता माह के रूप में मनाया जाता है। भारत समेत पूरी दुनिया में थायराइड के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

एक आंकड़े के मुताबिक साल 2022 में भारत में थायराइड के मरीजों की संख्या 42 लाख से ज्यादा थी. थायराइड एक ऐसी गंभीर बीमारी है, जो महिलाओं को ज्यादा प्रभावित कर रही है। महिलाओं में थायराइड के बढ़ते मामलों को देखते हुए आज हम इस लेख में आपको इस बीमारी के लक्षण बताने जा रहे हैं।

थायराइड क्या है? What is Thyroid?

थायराइड एक्स्पर्ट के अनुसार थायराइड गले में पाई जाने वाली तितली के आकार की ग्रंथि है। यह सांस की नली के ऊपर होता है। थायरॉयड ग्रंथि को थायराइड हार्मोन बनाने के लिए आयोडीन की जरूरत होती है।

यदि आपके शरीर में बहुत कम या बहुत अधिक आयोडीन है, तो यह थायराइड ग्रंथि द्वारा बनाए गए हार्मोन के स्तर को प्रभावित करता है। डॉक्टर के मुताबिक थायराइड जैसी बीमारी मूड को प्रभावित कर सकती है।

इसमें चिंता या अवसाद शामिल है। थायराइड की बीमारी जितनी गंभीर होती है, मूड में बदलाव उतना ही गंभीर होता है। अगर थायराइड ओवरएक्टिव यानी हाइपरथायरायडिज्म है, तो यह चिंता, घबराहट, चिड़चिड़ापन पैदा कर सकता है।

यदि थायराइड अंडरएक्टिव यानी हाइपोथायरायडिज्म है, तो यह अवसाद या असामान्य थकान का कारण बन सकता है।

डॉक्टर का कहना है कि ज्यादातर महिलाएं थायराइड के शुरूआती लक्षणों पर ध्यान नहीं देती हैं, जिससे स्थिति हाइपोथायरायड या हाइपरथायरॉइड तक पहुंच जाती है। अगर किसी महिला में ये लक्षण दिखें तो यह थायराइड हो सकता है।

थायराइड के लक्षण क्या हैं? What are the symptoms of Thyroid?

1. गर्दन में सूजन

थायराइड बढ़ने पर अक्सर गर्दन में सूजन की संभावना बढ़ जाती है। अगर आपको गर्दन के क्षेत्र में सूजन और भारीपन महसूस हो रहा है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

2. हार्मोनल परिवर्तन

अगर किसी महिला को पीरियड्स के दौरान पेट में ज्यादा दर्द होता है तो यह थायराइड की समस्या का कारण हो सकता है।

वहीं, अनियमित पीरियड्स की समस्या हाइपरथायराइड का कारण हो सकती है। डॉक्टर के मुताबिक जिन महिलाओं को थायरॉइड की समस्या होती है उन्हें गर्भधारण करने में समस्या हो सकती है।

3. वजन बढ़ना या कम होना

थायराइड होने पर शरीर का वजन तेजी से बढ़ता है। इसके अलावा कई बार शरीर में वजन कम होने की स्थिति में थायराइड की समस्या भी हो सकती है।

थायराइड के कारण शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी बढ़ जाता है। वहीं दूसरी ओर हाइपोथायराइड में कोलेस्ट्रॉल बहुत कम हो जाता है। अगर आपके शरीर का वजन अचानक से कम या ज्यादा हो रहा है तो थायरॉइड की जांच जरूर कराएं।

4. थकान या अवसाद

कई बार छोटे-छोटे काम करने के तुरंत बाद थकान महसूस होती है या छोटी सी बात पर आपको घबराहट महसूस होती है तो ये थायराइड के लक्षण हो सकते हैं।

5. पेट खराब होना

लंबे समय तक कॉन्स्टिपेशन की समस्या हाइपो थायराइड में होती है जबकि हाइपरथाइराइड में डायरिया की दिक्कत बार-बार होती है। इस तरह की समस्या होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

थायराइड जैसी बीमारी होने के कारण क्या हैं? – What are the Causes of Thyroid Disease?

  • खाने में आयोडीन कमी या अधिकता
  • ज्यादा टेंशन लेना
  • डायबिटीज
  • डिप्रेशन की दवाओं का सेवन करना
  • खानपान में सोया के उत्पादों का ज्यादा इस्तेमाल करना।

थायराइड से बचाव के लिए क्या करें? What to do to Prevent Thyroid?

थायराइड की समस्या होने पर आप निम्नलिखित उपायों को अपना सकते हैं।

  • प्रतिदिन योग और ध्यान करें
  • ताजे फल और सब्जियों का सेवन करें
  • धूप में बैठें
  • पर्याप्त मात्रा में नींद लें
  • हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन
  • पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करें।