भारत सरकार ने आधार कार्ड का एक अहम नियम जारी किया है, यह सेवा बिल्कुल मुफ्त मिलेगी

21
Baal Aadhaar card biometric update mandatory: what is it, how to update

Baal Aadhaar Card Biometric Update Mandatory : What is it, How to Update


आधार कार्ड का डाटा स्टोर रखने वाली भारत सरकार की संस्था UIDAI (Unique Identification Authority of India) ने बच्चों के आधार कार्ड के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। UIDAI ने भारतीय बच्चों के आधार कार्ड यानी बाल आधार को अपडेट करने के लिए गाइडलाइंस जारी की है।

बच्चों के आधार कार्ड के लिए जरूरी नियम

यह एक बेहद अहम नियम है, जिसके तहत माता-पिता को अपने बच्चों के 5 साल और 15 साल की उम्र में आधार कार्ड अपडेट कराने को कहा गया है।

इसका मतलब यह है कि अगर आपके घर में कोई बच्चा है तो आपको 5 साल की उम्र और फिर 15 साल की उम्र में उसका आधार कार्ड अपडेट कराना अनिवार्य होगा।

यूआईडीएआई ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है और कहा है कि माता-पिता को अपने बच्चों के 5 और 15 साल की उम्र के आधार कार्ड को अपडेट कराना होगा. माता-पिता नजदीकी आधार केंद्र पर जाकर अपने बच्चों के आधार कार्ड को बिल्कुल मुफ्त में अपडेट करवा सकते हैं।

5 साल तक के बच्चों के लिए नीला आधार कार्ड

यूआईडीएआई के मुताबिक, उम्र के साथ बच्चों के फिंगरप्रिंट समेत शरीर के सभी हिस्सों में बदलाव होते हैं, जिन्हें अपडेट कराना अनिवार्य है।

चाइल्ड आधार और साधारण आधार में अंतर स्पष्ट करने के लिए सरकार ने 0-5 साल के बच्चों के लिए इसे ब्लू यानी नीले रंग का चाइल्ड आधार जारी करना शुरू कर दिया है. नीले रंग का यह आधार कार्ड 5 साल की उम्र के बाद मान्य नहीं होगा।

अगर आपके बच्चे 5 साल की उम्र पूरी कर चुके हैं तो आप तुरंत अपने नजदीकी आधार कार्ड केंद्र पर जाएं और अपने बच्चों का आधार कार्ड अपडेट करवा लें। यह निःशुल्क सेवा है।

उसके बाद आपके बच्चों को दिए गए नीले रंग के बाल आधार कार्ड को सफेद रंग के आधार कार्ड में बदल दिया जाएगा, जो आमतौर पर लोगों के पास होता है।

इसे भी पढ़े