बेहद दर्दनाक थी परवीन बाबी की मौत, बिस्तर पर पड़ी थी लाश, हालत देख सहम गए लोग

45

Parveen Babi Death Anniversary: 22 जनवरी 2005 को मुंबई के जुहू स्थित रिवेरा बिल्डिंग की 7वीं मंजिल पर अपार्टमेंट के दरवाजे के बाहर तीन दिन तक अखबार और दूध के पैकेट पड़े रहे। पिछले तीन दिनों से न तो दरवाजे पर ताला लगा था और न ही अंदर से कोई बाहर आया था।

पड़ोसियों के जमा होने पर उन्हें शक हुआ। जब वह दरवाजे के पास गया तो सड़ांध की गंध के कारण वह वहां ज्यादा देर नहीं रुक सका। पड़ोसियों ने पुलिस को फोन कर सूचना दी। पुलिस ने दरवाजा खटखटाया लेकिन कोई जवाब नहीं मिला और फिर जब पुलिस दरवाजा तोड़कर अंदर पहुंची तो उनके होश उड़ गए.

50 साल की उम्र में दर्दनाक मौत

Parveen Babi Death Anniversary

एक्ट्रेस परवीन बाबी की डेड बॉडी बेड पर पड़ी थी। शव सड़ चुका था और कमरे से दुर्गंध आ रही थी। बेड के पास व्हीलचेयर पड़ी थी। परवीन बाबी का शव मिलने से तीन दिन पहले उनकी मौत हो गई थी। न कोई रिश्तेदार था, न कोई दोस्त, न कोई खबर लेने वाला था। 50 साल की उम्र में खूबसूरत परवीन बाबी की सड़ी-गली लाश मिलने से पूरा देश सहम गया था।

परवीन सिजोफ्रेनिया से जूझ रही थीं

परवीन को पैरानॉयड सिजोफ्रेनिया नाम की लाइलाज बीमारी थी। इस बीमारी के चलते उन्हें लगता था कि कभी अमिताभ बच्चन उन्हें मारना चाहते हैं तो कभी कहते थे कि अमिताभ के लोगों ने मुझे किडनैप कर लिया।

उसे भ्रम होता था कि लोग उसे मारना चाहते हैं या उसकी कार में बम है। कभी वह अचानक 6 साल के लिए सेट से गायब हो जाती हैं तो कभी सेट पर हंगामा कर देती हैं। उसका व्यवहार इतना खराब हो गया था कि एक बार उसे न्यूयॉर्क एयरपोर्ट पर पकड़ लिया गया और बेड़ियों में बांधकर पागलखाने भेज दिया गया।

महेश भट्ट अपनी बीमारी का इलाज कराना चाहते थे, लेकिन परवीन ने जिद करके उन्हें खुद से दूर कर लिया। अकेले रहने के दौरान परवीन की हालत और खराब हो गई और आखिर में अकेलेपन में उनकी मौत हो गई।

जब कोई रिश्तेदार शव पर दावा करने नहीं आया तो महेश भट्ट ने उनके अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी उठाई, जिसमें उनके दोनों पूर्व प्रेमी डैनी और कबीर बेदी भी मौजूद थे।

इसे भी पढ़ें