क्या विराट कोहली इस साल सचिन तेंदुलकर का सबसे ज्यादा वनडे रन का रिकॉर्ड तोड़ देंगे? मास्टर ब्लास्टर के नाम 18426 रन हैं

33
विराट कोहली

सचिन तेंदुलकर वनडे रन रिकॉर्ड: पूर्व भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर में सबसे ज्यादा वनडे रन बनाए। उन्होंने ये रन 452 पारियों में 44.83 की औसत से बनाए हैं।

Sachin Tendulkar ODI Runs Record: भारतीय टीम के दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली का नाम अक्सर सचिन तेंदुलकर के साथ जोड़ा जाता है।

सचिन के कई रिकॉर्ड्स को लेकर यह उम्मीद की जाती है कि भारतीय क्रिकेट में विराट कोहली ही उन्हें तोड़ सकते हैं। फिर चाहे वह 100 शतकों का रिकॉर्ड हो या सबसे ज्यादा रनों का रिकॉर्ड।

फिलहाल हम बात करने जा रहे हैं दोनों के वनडे रिकॉर्ड की। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपने वनडे करियर में कुल 18426 रन बनाए हैं।

अब विराट कोहली को लेकर उम्मीद की जा रही है कि वो भारतीय क्रिकेट में सचिन के इस रिकॉर्ड को तोड़ सकते हैं.

क्या इस साल टूटेगा सचिन का रिकॉर्ड?

विराट कोहली को सचिन तेंदुलकर के एकदिवसीय मैचों में सर्वाधिक रनों के रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए कुल 5956 रनों की आवश्यकता है। कोहली ने अब तक वनडे में कुल 12471 रन बनाए हैं।

किसी भी क्रिकेटर के लिए वनडे में एक साल में इतने रन बनाना संभव नहीं है। क्रिकेट के इतिहास में अब तक किसी भी क्रिकेटर द्वारा वनडे क्रिकेट में एक कैलेंडर ईयर में 1894 रन बनाए गए हैं।

Bharat Jodo Yatra: क्या हैं कांग्रेस के चुनाव चिन्ह के मायने, कहां से आया हाथ का निशान? राहुल गांधी ने अपने शोध का हवाला देते हुए यह बात कही

यह रिकॉर्ड भी खुद दिग्गज मास्टर ब्लास्टर के नाम है। ये रन उन्होंने 1998 में 34 मैचों की 33 पारियों में 65.31 की औसत से बनाए थे।

इसके अलावा विराट कोहली ने एक कैलेंडर ईयर में वनडे में सबसे ज्यादा 1460 रन बनाए हैं। ये रन उन्होंने 2017 में 26 मैचों की 26 पारियों में 76.86 की औसत से बनाए थे।

ऐसे में सचिन तेंदुलकर के एक साल में सबसे ज्यादा वनडे रन के रिकॉर्ड को तोड़ पाना काफी मुश्किल नजर आ रहा है।

पिछले 3 साल कोहली के लिए अच्छे नहीं रहे

गौरतलब है कि विराट कोहली पिछले तीन साल से वनडे में खराब प्रदर्शन करते नजर आ रहे हैं। कुल तीन साल में उनके बल्ले से सिर्फ एक ही शतक निकला है।

2020 में उन्होंने 9 मैचों की 9 पारियों में 47.88 की औसत से 431 रन बनाए। इसके बाद 2021 में उन्होंने 3 मैच में 43 की औसत से सिर्फ 129 रन बनाए।

जबकि पिछले साल यानी 2022 में उन्होंने 27.45 की औसत से 302 रन बनाए, जो उनके वनडे करियर का सबसे कम स्कोर है।

Also Read