वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी, कोरोना का यह नया वैरिएंट वैक्सीन लगाने वालों को भी नहीं छोड़ रहा

26
Covid-19 Update | Beware corona re-emerges in state patient was also found in new variant

Scientists Warned : दुनिया भर में कहर बरपा रहा कोरोना का नया वैरिएंट XBB.1.5 अधिक टीका लगवाने वाले लोगों और कोरोना से संक्रमित हुए लोगों को प्रभावित करता है। यह दावा एक नए शोध में किया गया है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने हाल ही में बताया कि XBB.1.5 वैरिएंट के मामले 38 देशों में पाए गए हैं, जिसमें अमेरिका में 82 प्रतिशत कोरोना मामलों के लिए केवल यही वैरिएंट जिम्मेदार है।

वहीं, ब्रिटेन के आठ फीसदी और डेनमार्क के दो फीसदी कोरोना मामले इसी वैरिएंट की वजह से हैं। यहां एक चौंकाने वाली बात सामने आई है कि इस वैरिएंट से उन लोगों के संक्रमित होने की संभावना ज्यादा है, जिन्हें टीका लगाया गया है या जिन्हें पहले COVID-19 हो चुका है।

यह वेरिएंट बहुत तेजी से फैलता है

XBB.1.5 स्ट्रेन Omicron XBB वैरिएंट्स के परिवार का एक सदस्य है, जो Omicron BA.2.10.1 और BA.2.75 सब-वेरिएंट्स के पुनः संयोजक हैं। अमेरिका में 44 फीसदी कोरोना मामलों के लिए XBB और XBB.1.5 जिम्मेदार हैं।

यूरोपियन सेंटर फॉर डिजीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल (ECDC) के अनुसार, सबवैरिएंट वर्तमान में अमेरिका में अन्य वेरिएंट की तुलना में 12.5 प्रतिशत तेजी से फैल रहा है।

रॉयटर्स के अनुसार, जनवरी के पहले सप्ताह में 30 प्रतिशत मामले इस सबवैरिएंट के थे, जो पिछले सप्ताह सीडीसी द्वारा अनुमानित 27.6% से अधिक है।

यह वैरिएंट टीका लगवाने वाले लोगों को और संक्रमित कर सकता है

NYC डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ एंड मेंटल हाइजीन के एक हालिया अध्ययन से पता चला है कि XBB.1.5 COVID-19 का सबसे तेजी से फैलने वाला संस्करण है, जिसके बारे में हम जानते हैं, और यह उन लोगों को संक्रमित करने की अधिक संभावना है जिन्हें कोरोना वैक्सीन लगाया गया है या जो पहले से ही हैं COVID-19 की बीमारी थी।

कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण जरूरी है

टीकाकरण को बढ़ावा देने का आग्रह करते हुए उन्होंने कहा, “हम अभी तक नहीं जानते हैं कि XBB.1.5 अधिक गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है या नहीं। इसलिए सबसे अच्छा तरीका है कि आप खुद को वैक्सीन और COVID-19 के अपडेटेड बूस्टर डोज से सुरक्षित रखें।

भारत में इस वैरिएंट के कुल 26 मामले

INSACOG द्वारा तीन दिन पहले जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत में अब तक COVID के XBB.1.5 के कुल 26 मामले पाए गए हैं। यह वैरिएंट अब तक 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पाया गया है जिसमें दिल्ली, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल शामिल हैं। XBB.1.5 संयुक्त राज्य अमेरिका में COVID मामलों में वृद्धि के लिए जिम्मेदार है।

इसे भी पढ़ें