वर्क प्लेस पर अपनाएं ये 4 ट्रिक्स, बॉस होंगे खुश और लंबी चलेगी नौकरी

41
Follow these 4 tricks at work place

Follow these 4 tricks at work place : जीवन में आप जो भी जॉब, पेशा चुनते हैं, उसमें चुनौतियां तो आती ही हैं। ऐसे में जिसने वर्क प्लेस पर कठिन परिस्थितियों को संभालना सीख लिया है, उसके आगे बढ़ने की संभावना अधिक है।

इसलिए कठिन परिस्थितियों में व्यक्ति को अपने विचारों को सही ढंग से व्यक्त करने का प्रयास करना चाहिए। अच्छी कंपनी में काम करने का सपना हर कोई देखता है। लेकिन कार्यस्थल पर काम करना हमेशा इतना आसान नहीं होता।

ऑफिस में बॉस के अधीन काम करना, कभी-कभी उनकी डांट खाकर, टारगेट पूरा करने और टीम को संभालने के दबाव का सामना करते हुए कई कामों का दबाव लगातार बना रहता है।

इसी वजह से कई लोग अपशब्दों का प्रयोग कर अपना गुस्सा निकालने लगते हैं, जिससे न सिर्फ उनकी छवि खराब होती है, बल्कि उनके प्रदर्शन पर भी सवाल खड़े होते हैं।

तो चलिए हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे आसान टोटके के बारे में जिससे आप बिना किसी टेंशन के लंबे समय तक अपनी नौकरी में आराम से काम कर सकते हैं।

यह ऑफिस पोलिटिक्स कार्यालयों में काफी आम है। आमतौर पर विभाग के लोग प्रबंधक के सामने आपके द्वारा किए गए कार्य का श्रेय स्वयं लेते हैं। आप अपने प्रोजेक्ट के लिए काफी मेहनत करते हैं, ऐसे में आपका गुस्सा आना स्वाभाविक है।

यदि कोई जानबूझकर आपकी मेहनत का पूरा श्रेय ले लेता है तो सतर्क रहना जरूरी है। इसका जवाब आप बिना रूखे हुए दे सकते हैं। उस व्यक्ति से व्यक्तिगत रूप से बात करें और उसे बताएं कि उसकी हरकतें आपको परेशान कर रही हैं।

यदि वह क्रेडिट देने के लिए सहमत नहीं होता है, तो आप उसी परियोजना के बारे में अधिक से अधिक जानकारी और स्पष्टीकरण प्रदान करके अपनी उपयोगिता साबित कर सकते हैं।

छुट्टी के दिन काम करने को कहा जाये

वर्क प्लेस पर कई बार सीनियर्स अपने कर्मचारियों को किसी खास प्रोजेक्ट के लिए रोक लेते हैं। यह विशेष रूप से तब होता है जब आप घर के लिए निकल रहे होते हैं।

ऐसे में गुस्सा करने या अपशब्द कहने के बजाय आप विनम्रता से कह सकते हैं कि आपका एक और कमिटमेंट है, जिसे आपको पूरा करना है। इससे किसी को बुरा नहीं लगेगा और आपका काम भी बन जाएगा।

जब आपको ना कहना हो

कई बार हालात ऐसे बन जाते हैं कि आपको ना कहना पड़ता है। लेकिन ना कहने का अपना तरीका होता है। अगर आप साफ-साफ ना कह देते हैं, तो इससे आपकी छवि को कोई नुकसान नहीं पहुंचता

साथ ही सामने वाले की बात भी बनी रहती है। कहा जा सकता है कि आपको थोड़ा कूटनीतिक होने की जरूरत है और किसी के अनुरोध को अस्वीकार न करें।

जब गलती का असर टीम पर हो

गलतियां तो सभी करते हैं, लेकिन अगर गलती आपने पेशेवर तरीके से की है, तो आखिरकार उसे सुधारने की जिम्मेदारी आपकी है। अगर आप इस गलती को छुपाते हैं या अपनी टीम को नहीं बताते हैं तो इसका असर आपकी टीम पर पड़ सकता है।

बेहतर होगा कि आप जल्द से जल्द अपनी गलती के लिए माफी मांग लें और अपनी टीम के साथ मिलकर उस गलती का कोई हल निकालें और उसे खत्म कर दें।